filter your search allcollegesexamnews

IBPS PO 2018 NEWS

NATIONAL LEVEL ONLINE TEST

IBPS PO बैंकिंग जागरूकता के लिए साक्षात्कार प्रश्न

Last Updated - October 27, 2017

IBPS PO एग्जाम को क्लीयर करने वाले कैंडिडेट्स को अंतिम चरण यानी इंटरव्यू के लिए चुना गया है । साक्षात्कार IBPS PO चयन प्रक्रिया का एक अभिन्न हिस्सा है जहां आप अपने संचार कौशल, व्यवहार, व्यक्तित्व, कड़ी मेहनत और दबाव के तहत काम करने की क्षमता की तरह चीजों के लिए परीक्षण किया जाएगा, नौकरी के दौरान स्थानांतरण के साथ सामना, समस्या को सुलझाने की क्षमताओं, और आपका ज्ञान और नेतृत्व के गुण ।

Quick Links

IBPS PO साक्षात्कार पैनल

बैंकिंग क्षेत्र के कुछ बेहतरीन बुद्धिजीवी IBPS पीओ इंटरव्यू पैनल का एक हिस्सा हैं । वे ज्ञानी और अच्छी तरह से पेशेवरों उजागर कर रहे हैं । यह भी मनोविज्ञान के क्षेत्र से एक उच्च कुशल पेशेवर के होते हैं । साक्षात्कार में उनकी भूमिका उंमीदवारों के निरीक्षण और अंत में अपने अंतर्निहित व्यक्तित्व लक्षण निर्धारित करने के लिए किया जाएगा ।


IBPS PO इंटरव्यू में पूछे गए प्रश्न

बैंकिंग से जुड़े सवाल

साक्षात्कारकर्ता अपनी बैंकिंग जागरूकता के आधार पर उंमीदवारों का परीक्षण करेंगे । IBPS PO उंमीदवारों निश्चित रूप से बैंकिंग क्षेत्र से संबंधित सवालों की उंमीद करनी चाहिए । व्यक्तियों को प्रासंगिक बैंक ज्ञान हासिल करना होगा यानी कामकाज के बारे में, और बैंकों के विभिन्न उपक्रमों के बारे में जानें. अच्छी तरह से तैयार करने के लिए सभी सवालों का जवाब और अपने साक्षात्कार दौर इंटरैक्टिव बनाने में सक्षम हो । निंनलिखित बैंक से संबंधित प्रश्नों के साथ अपने साक्षात्कार की तैयारी शुरू करो ।

प्र. बैंकिंग लोकपाल योजना क्या है?

Ans. बैंकिंग लोकपाल योजना बैंकों द्वारा प्रदान की गई कुछ सेवाओं से संबंधित शिकायतों के समाधान के लिए बैंक ग्राहकों के लिए एक शीघ्र और सस्ता मंच सक्षम बनाता है ।

प्र. बैंकिंग लोकपाल योजना, २००६ प्रस्ताव क्या है?

ans. बैंकिंग लोकपाल योजना, २००६ बैंकों द्वारा प्रदान की गई कुछ सेवाओं से संबंधित बैंक ग्राहकों की शिकायतों के समाधान को सक्षम करती है ।

प्र. बैंकिंग लोकपाल कौन है?

Ans. बैंकिंग लोकपाल भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा बैंकिंग सेवाओं में कुछ कमी के खिलाफ ग्राहकों की शिकायतों का निबटारा करने के लिए नियुक्त व्यक्ति है ।

प्र. क्या बैंकिंग लोकपाल के पास कोई कानूनी शक्ति है?

ans. बैंकिंग लोकपाल एक अर्ध-न्यायिक प्राधिकरण है । यह दोनों पक्षों को बुलाने की शक्ति है-बैंक और उसके ग्राहक, मध्यस्थता के माध्यम से शिकायत के समाधान की सुविधा के लिए.

प्र. कितने बैंकिंग लोकपाल की नियुक्ति की गई है और वे कहाँ स्थित हैं?

Ans. 15 बैंकिंग लोकपाल को राज्य की राजधानियों में अधिकांशतः स्थित अपने कार्यालयों के साथ नियुक्त किया गया है । बैंकिंग लोकपाल कार्यालयों के पते आरबीआई की वेबसाइट में उपलब्ध कराए गए हैं ।

प्र. २००६ बैंकिंग लोकपाल योजना के अंतर्गत किन बैंकों को कवर किया गया है?

ans. योजना के अंतर्गत सभी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों और अनुसूचित प्राथमिक सहकारी बैंकों को शामिल किया गया है ।

प्र. कैसे बैंकिंग लोकपाल एक मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है?

Ans. बैंकिंग लोकपाल किसी भी विवाद के संबंध में मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है (एक बैंक और उसके घटकों के बीच).

प्र. सीबीएस का अर्थ क्या है?

Ans. कोर बैंकिंग समाधान (सीबीएस) शाखाओं की नेटवर्किंग है, जो ग्राहकों को उनके खातों को संचालित करने में सक्षम बनाता है, और सीबीएस नेटवर्क पर बैंक की किसी भी शाखा से बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा रहा है, चाहे वह अपने खाते का रखरखाव करे ।

प्र. देश की जीडीपी से आप क्या समझते हैं?

ans. किसी देश के भौगोलिक क्षेत्र के अंतर्गत उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं का अंतिम मूल्य उस देश का सकल घरेलू उत्पाद है. सकल घरेलू उत्पाद की खपत, निवेश और निर्यात पर गणना की जाती है और आयात इन तीनों के योग से घटाया जाता है.

प्र. राष्ट्रीयकृत बैंकों और निजी बैंकों में क्या अंतर है?

ans. एक राष्ट्रीयकृत बैंक उस देश के सरकार के स्वामित्व में है और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के रूप में भी जाना जाता है जबकि एक निजी क्षेत्र के बैंक एक स्वतंत्र व्यक्ति या कंपनी के स्वामित्व में है ।

प्र. विभिंन जोखिम है कि बैंकों का सामना क्या कर रहे हैं?

ans. बैंकों द्वारा मुख्य रूप से तीन प्रकार के जोखिमों का सामना किया जाता है:-

  • क्रेडिट जोखिम:-ऋण या वसुली ।
  • बाजार जोखिम:-पैसे बाजार में निवेश किया ।
  • परिचालन जोखिम:-दिन के लिए दिन काम जोखिम ।

प्र. पैरा बैंकिंग क्या है?

Ans. पैरा बैंकिंग में बैंकों द्वारा प्रदान की जाने वाली सभी सेवाएं शामिल हैं, जो दिन-प्रतिदिन बैंकिंग से अलग हैं । उदाहरण के लिए:-डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, जीवन बीमा उत्पाद, नकद प्रबंधन सेवाएं आदि ।

प्र. आरबीआई की मौद्रिक नीति के क्या घटक हैं?

ans. मौद्रिक नीति के घटकों में सीआरआर, रेपो दर, रिवर्स रेपो दर, एसएलआर, एमएसएफ और बैंक दर शामिल हैं ।

प्र. सीमांत स्थायी सुविधा (एमएसएफ) क्या है?

ans. एमएसएफ में बैंक 24 घंटे तक आरबीआई से पैसे उधार लेते हैं । एमएसएफ हमेशा रेपो दर से 1% ऊपर है और बैंक आरबीआई से अपने NDTL के केवल 25 तक आकर्षित कर सकते हैं ।

प्र. व्हाइट लेबल एटीएम क्या है?

ans. यह कंपनी या निजी अपने ग्राहकों द्वारा किए गए लेनदेन के लिए बैंकों द्वारा एक कमीशन कमाने की मांग ऑपरेटरों के स्वामित्व वाले एटीएम को संदर्भित करता है । For ex:-टाटा ग्रुप द्वारा INDICASH.

प्र. पाजी क्या है? राजकोषीय घाटा क्या है?

Ans. सीएडी या चालू खाता घाटा एक वित्तीय वर्ष में एक राष्ट्र के आयात और निर्यात के बीच अंतर है जबकि राजकोषीय घाटे में एक राष्ट्र के कुल राजस्व और व्यय के बीच अंतर है ।

प्र. टर्म रेपो क्या है?

ans. टर्म रेपो के तहत, आरबीआई फंडों की नीलामी के माध्यम से बैंकों को उधार देता है । न्यूनतम ब्याज का आरोप रेपो दर से ऊपर हो गया है और अधिकतम ब्याज दर की कोई सीमा नहीं है क्योंकि नीलामी ब्याज की दर पर की जाती है ।

प्र. पूंजीगत पर्याप्तता अनुपात क्या है? डीमैट खाता क्या है?

Ans. कार बैंकों के जोखिम के लिए पूंजी का अनुपात है । डीमैट खाते वे होते है जिनमें शेयर, प्रतिभूति और बीमा नीतियां इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखी जाती हैं ।

प्र. ब्राउन लेबल एटीएम क्या है?

ans. यह एटीएम जहां निवेश, स्थापना और रखरखाव एक निजी ऑपरेटर द्वारा है, लेकिन लाइसेंस और ब्रांडिंग एक वाणिज्यिक बैंक द्वारा है संदर्भित करता है ।

प्र. बैंकों की पूंजी के क्या अंश हैं?

Ans: बैंक ने पूंजी के कुछ हिस्सों का अनुसरण किया है ।

  • टीयर 1 पूंजी:-पूंजी का भुगतान (कोर कैपिटल) + भंडार (मालिकों या प्रवर्तकों के कोष)
  • टीयर 2 पूंजी:-द्वितीयक पूंजी (उधार धन) + सामान्य हानि भण्डार + अधीनस्थ सावधि ऋण + अज्ञात भंडार (भारत में नहीं बनाए जा सकते हैं)
  • टियर 3 कैपिटल:-टियर 2 पूंजी के समान लेकिन बैंक के बाजार जोखिमों का सामना करने के लिए उच्चतर राशि के साथ ।

क्या करें और क्या नहीं इंटरव्यू के लिए

  • लक्ष्ण न करें । सीधे बैठो और अपने शरीर की भाषा की वजह से देखभाल ले ।
  • साक्षात्कार भर में शांत रहो । यह चिंतित महसूस ठीक है, लेकिन यह आपके चेहरे पर प्रतिबिंबित नहीं की कोशिश करो ।
  • उत्तर ऊपर मग मत करो. कुछ अंक पहले से ही तैयारी ठीक है, लेकिन एक रोबोट की तरह जवाब नहीं के रूप में यदि आप उत्तर गड़बड़ है ।
  • सभी आवश्यक दस्तावेजों, अतिरिक्त तस्वीरें आदि ले कर
  • साक्षात्कारकर्ता के साथ आँख से संपर्क करना । यह आपके आत्मविश्वास को दर्शाता है ।

Comments

Comments


No Comments To Show

×

Related News & Articles

April 13, 2018IBPS-PO 2018

IBPS PO 2018 Photo Size, Dime ..

February 27, 2018IBPS-PO 2018

How to prepare for IBPS PO Ma ..

The main exam for IBPS PO is scheduled for Novembe ...

February 19, 2018IBPS-PO 2018

Important Topics for IBPS PO ..

January 25, 2018IBPS-PO 2018

IBPS PO Interview 2018: Impor ..

It is that time of the year when banking enthusias ...