filter your search allcollegesexamnews

IAS EXAM 2018 NEWS

NATIONAL LEVEL OFFLINE TEST

UPSC IAS परीक्षा 2018 का पैटर्न

Last Updated - April 06, 2018

IAS की परीक्षा तीन चरणों में पूरी होती है। पहले प्राथमिक परीक्षा, दूसरे चरण में मुख्य और तीसरे चरण में परिक्षार्थियों का साक्षात्कार लिया जाता है। पहली परीक्षा में प्रश्न वस्तुनिष्ठ पूछे जाते हैं एवं दूसरी परीक्षा में लिखित (परंपरागत प्रश्न) पूछे जाते हैं। यह परीक्षा ऑफ़लाइन माध्यम से अंग्रेजी और हिंदी (दोनों) माध्यमों में आयोजित की जाती है।

IAS की प्राथमिक परीक्षा के अंतर्गत दो परिक्षाएं (पेपर 1 एवं पेपर 2) ली जाती हैं। यह परीक्षा मई 2018 में आयोजित की जाएगी। प्राथमिक परीक्षा के दोनों पेपर में 200 प्रश्न पूछे जाते हैं जिनको परिक्षार्थियों को 2 घंटे में हल करना होता है। दोनों पेपर का कुल अंक 400 होता है।

IAS की मुख्य परीक्षा में 7 पेपर की परीक्षा होती है, जिनमें 5 विषय अनिवार्य एवं 2 भाषा से संबंधित प्रश्न पत्र (वैकल्पिक) होते हैं। इस परीक्षा की अवधि 3 घंटे है। मुख्य परीक्षा का कुल अंक 2025 होता है। परीक्षा का माध्यम अंग्रेजी और हिंदी होता है।

IAS के अंतर्गत वस्तुतः तीन चरणों में पूरी होती हैI प्रथम चरण के अंतर्गत होने वाली प्रारंभिक परीक्षा मई, 2018 के महीने में आयोजित की जाएगी। दूसरे चरण की मुख्य परीक्षा अक्टूबर/नवंबर 2018 के महीने में आयोजित की जाएगी। दोनों परिक्षाओं में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को अंतिम चरण की परीक्षा के रूप में साक्षात्कार के लिए अप्रैल/मई, 2018 के महीने में बुलाया जाएगा।


IAS 2018 प्राथमिक परीक्षा का पैटर्न

IAS की प्राथमिक परीक्षा कागज एवं कलम आधारित होती है। यह परीक्षा एक ही दिन, दो सत्रों में आयोजित की जाती है। पेपर 1 के अंतर्गत (जनरल स्टडीज) और पेपर II में (सिविल सर्विस ऍप्टीट्यूड टेस्ट) संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। दोनों प्रश्न पत्र 200 प्रश्नों के साथ हिंदी और अंग्रेजी माध्यमों में उपलब्ध होता है। परीक्षार्थी नीचे की तालिका द्वारा IAS Exam Pattern 2018 के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं:-

परीक्षा की अवधिप्रत्येक पेपर के लिए 2 घंटे या 120 मिनट (नेत्रहीन अभ्यर्थियों के लिए 20 मिनट का अतिरिक्त समय)
प्रश्नों की संख्यापेपर I में 200 प्रश्न और पेपर II में 200
प्रश्नों का कुल अंक400 अंक
प्रश्न के प्रकारवस्तुनिष्ठ प्रश्न
प्रश्न के अंकपेपर I का 200 अंक और पेपर II का 200
नकारात्मक अंकएक प्रश्न के लिए 1/3 अंक काटा जाएगा
परीक्षा का माध्यमहिंदी और अंग्रेजी

UPSC IAS परीक्षा 2018 की प्राथमिक परीक्षा का पाठ्यक्रम

IAS की प्राथमिक परीक्षा का मूल्यांकन दोनों पेपर (पेपर I और पेपर II) के आधार पर किया जाता है। दोनों विषयों के लिए अलग-अलग 200 अंक निर्धारित होते हैं। परीक्षार्थी को उत्तर के रूप में उपलब्ध विकल्पों में से एक का चयन करना होता है। IAS Selection Process के अगले चरण की पात्रता पाने के लिए परीक्षार्थी को दोनों विषयों में यू.पी.एस.सी. द्वारा निर्धारित न्यूनतम अंक प्राप्त करना आवश्यक है। IAS की प्राथमिक परीक्षा के लिए परिक्षार्थियों को निम्न विषयों की पढ़ाई करनी:-

UPSC IAS प्राथमिक परीक्षा पेपर 1

UPSC IAS की प्राथमिक परीक्षा के प्रश्न पत्र में वर्तमान की घटनाक्रम, सामान्य अध्ययन और दुनिया भर की घटनाओं के बारे में पूछा जाता है। परिक्षार्थियों की अधिक जानकारी के लिए नीचे सारणी दी जा रही है। इस सारणी के द्वारा परीक्षार्थी IAS की प्राथमिक परीक्षा के विषयों से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं:-

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएंभारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
भारतीय और विश्व भूगोल- भारत और विश्व की भौतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोलभारतीय राजनीति और शासन-व्यवस्था, संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकार-मुद्दे आदि।
आर्थिक और सामाजिक विकास-सतत विकास, गरीबीसमावेशन, जन सांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल आदि।
पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन संबंधित सामान्य मुद्देसामान्य विज्ञान

UPSC IAS प्राथमिक परीक्षा पेपर 2

IAS परीक्षा के पेपर 2 के अंतर्गत वैसे प्रश्न पूछे जाते हैं जो अभ्यर्थियों की योग्यता कौशल का परीक्षण करते हैं। यदि परीक्षार्थियों को इस परीक्षा में अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण होना है तो उन्हें नीचे दी गई सारणी में उल्लिखित विषयों का अध्ययन करना चाहिए:-

समझ कौशल (कॉम्प्रिहेंशन)संचार कौशल एवं पारस्परिक कौशल
तर्क संगत एवं विश्लेषणात्मक प्रश्ननिर्णय लेने की क्षमता एवं समस्या सुलझने का ज्ञान
सामान्य मानसिक क्षमतासंख्यात्मकता संबंधित प्रश्न (संख्याएं और उनके संबंध, परिमाण संबंधी प्रश्न आदि) (कक्षा 10वीं के स्तर पर आधारित)
डेटा व्याख्या (चार्ट, ग्राफ़, टेबल, डेटा पर्याप्तता आदि, कक्षा 10वीं के स्तर पर आधारित)अंग्रेजी भाषा कौशल (कक्षा 10वीं के स्तर पर आधारित)

UPSC IAS मुख्य परीक्षा 2018 का पैटर्न

UPSC IAS मुख्य परीक्षा के अंतर्गत 7 पेपर होते हैं। इस परीक्षा के आधार पर परीक्षार्थी तीसरे चरण की परीक्षा के लिए उत्तीर्ण माने जाते हैं और अच्छे अंक प्राप्त कर मेरिट लिस्ट में अपना स्थान बनाते हैं। मुख्य परीक्षा लिखित रूप से ली जाती है जो दो चरणों में आयोजित की जाती है। इस परीक्षा का कुल अंक 2025 होता है। IAS मुख्य परीक्षा के अंतर्गत लिखित परीक्षा के लिए 1750 अंक एवं व्यक्तित्व परीक्षण के लिए 275 अंक निर्धारित होते हैं।

इस परीक्षा के प्रश्न पत्र अंग्रेजी और हिंदी (दोनों) माध्यमों में होते हैं। अभ्यर्थियों की अधिक जानकारी के लिए नीचे की तालिका में IAS की मुख्य परीक्षा 2018 से संबंधित विस्तृत जानकारी दी जा रही है। इससे परिक्षार्थियों को मुख्य परीक्षा से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त हो पाएगी:-

परीक्षा की अवधिप्रत्येक पेपर के लिए 3 घंटे
परीक्षा का कुल अंक2025 अंक
प्रश्न के प्रकारनिबंध आधारित प्रश्न
अंकपेपर 1 से पेपर VII तक के प्रत्येक पेपर के लिए 250 अंक एवं व्यक्तित्व परीक्षण के लिए 275 अंक
प्रश्न पत्र की भाषाहिंदी और अंग्रेजी में

UPSC IAS की मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए परिक्षार्थियों को निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यान में रखना चाहिए:-

  • पेपर ए और पेपर बी (भारतीय भाषाएं और अंग्रेजी) मैट्रिक या समकक्ष कक्षा पर आधारित प्रश्न होंगे। इस परीक्षा में आपको केवल उत्तीर्ण होना है क्योंकि इसके नंबर आपके मेरिट लिस्ट में नहीं जुड़ेंगे।
  • अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम के राज्यों के अभ्यर्थियों के लिए पेपर ए देना आवश्यक नहीं है।
  • अभ्यर्थियी परीक्षा की भाषा या माध्यम के लिए अपनी लिपियों का उपयोग कर सकते हैं, जो नीचे दिए गए हैं:-
भाषालिपिभाषालिपि
आसामअसमियापंजाबीगुरुमुखी
बंगालीबंगालीसंस्कृतदेवनागरी
गुजरातगुजरातीसिंधीदेवनागरी या अरबी
हिंदीदेवनागरीतमिलतमिल
कन्नड़कन्नड़तेलुगूतेलुगु
कश्मीरीफारसीउर्दूफारसी
कोंकणीदेवनागरीबोडोदेवनागरी
मलयालममलयालमदोगरीदेवनागरी
मणिपुरीबंगालीमैथिलीदेवनागरी
मराठीदेवनागरीसंथालीदेवनागरी या ओलचिकी
नेपालीदेवनागरीउड़ियाउड़िया

UPSC IAS मुख्य परीक्षा 2018 का पाठ्यक्रम

सभी अभ्यर्थी, जो IAS 2018 की प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे वे मुख्य परीक्षा में शामिल होने के लिए पात्र होंगे। IAS की मुख्य परीक्षा में अभ्यर्थियों की समग्र बौद्धिक क्षमता एवं निपुणता का गहराई से परीक्षण किया जाता है।

Read More IAS Exam Syllabus

IAS कीमुख्य परीक्षा 2018 के पेपर I से पेपर vii के लिए परिक्षार्थियों को नीचे लिखे विषयों का अध्ययन करना चाहिएः-

  • पेपर I- निबंध
  • पेपर II - जनरल स्टडीज I (भारत की विरासत, भारत की संस्कृति, इतिहास, भारतीय समाज और विश्व का भूगोल)
  • पेपर III- जनरल स्टडीज II (भारतीय शासन व्यवस्ता, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध)
  • पेपर IV- जनरल स्टडीज III (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन)
  • पेपर V-जनरल स्टडीज- IV (एथिक्स, इंटिग्रिटी, और एपटीट्यूड)
  • पेपर VI और पेपर VII- इसके लिए परीक्षार्थी वैकल्पिक विषय पेपर I  और पेपर II में किसी एक विकल्प का चयन कर सकते हैं-
कृषिविद्युत अभियांत्रिकीचिकित्सा विज्ञान
पशुपालन और पशु चिकित्सा विज्ञानभूगोलभूगोल दर्शन
मानव विज्ञानभू-विज्ञानभौतिकी
वनस्पति विज्ञानइतिहासराजनीति विज्ञान और अंतर्राष्ट्रीय संबंध
रसायन विज्ञानकानून विषयमनोविज्ञान
सिविल इंजीनियरिंगप्रबंधनलोक प्रशासन
वाणिज्य और लेखागणितसमाजशास्त्र
अर्थशास्त्रमैकेनिकल इंजीनियरिंगसांख्यिकी
प्राणी विज्ञानसाहित्य 

UPSC IAS परीक्षा 2018 का साक्षात्कार

UPSC IAS परीक्षा के साक्षात्कार में परिक्षार्थियों से नागरिक सेवाओं से संबंधित कार्यकुशलता की जांच की जाती है। इसके लिए अभ्यर्थियों के संचार कौशल और कार्य कुशलता का आंकलन किया जाता है। साक्षात्कार के लिए कुछ सदस्यों का प्रतिनिधि मंडल बनाया जाता है जिसके  सदस्य निष्पक्ष रूप से परीक्षार्थियों से प्रश्न पूछते हैं और अभ्यर्थियों की बौद्धिक क्षमता, सामाजिक गुणों, वर्तमान घटनाओं और मामलों के प्रति उनकी जागरूकता का मूल्यांकन करते हैं तथा अंक प्रदान करते हैं।

साक्षात्कार में परिक्षार्थियों से मानसिक सजगता, अनुकूलता पर आधारित प्रश्न, सवालों एवं परिस्थितियों से संबंधित तार्किक और प्रश्न, निर्णयपरकता संबंधी प्रश्न, अभ्यर्थियों की विविधता और उनकी रूची, सामाजिक सामंजस्य और नेतृत्व क्षमता तथा बौद्धिक और नैतिकता संबंधी प्रश्न पूछे जाते हैं।

अभ्यर्थी साक्षात्कार में जाने से पहले अपने विषय की गहराई से अध्ययन जरूर करें। हालांकि परिक्षार्थियों के तकनीकी ज्ञान की जांच लिखित परीक्षा में की जाती है लेकिन साक्षात्कार के द्वारा परिक्षार्थियों का व्यक्तित्व और कैरियर संबंधी रिकॉर्ड में सबलता आती है। प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों एवं परीक्षार्थी के बीच की बातचीत के बाद अंतिम रूप से परिक्षार्थियों का चयन किया जाता है।


UPSC IAS परीक्षा 2018 के लिए निर्देश

जो परीक्षार्थी IAS में भाग लेने की इच्छा रखते हैं, उन्हें IAS की प्राथमिक और मुख्य परिक्षाओं से संबंधित निर्देशों की पूरी जानकारी रखनी चाहिए। इसलिए परिक्षार्थियों की अधिक जानकारी के लिए IAS 2018 परीक्षा से संबंधित निर्देश नीचे दिए गए हैं:

  • इस परीक्षा में अभ्यर्थी को स्वयं शामिल होना होगा। परिक्षार्थियों को किसी भी परिस्थिति में अन्य किसी व्यक्ति से कोई सहायता नहीं दी जाएगी। नेत्रहीन अभ्यर्थियों को प्रत्येक पेपर के लिए अतिरिक्त 30 मिनट दिए जाएंगे।
  • परिक्षार्थियों के लिए यू.पी.एस.सी. द्वारा निर्धारित दृष्टिदोष संबंधित प्रतिशत नीचे दिए गए हैं-
श्रेणीस्वस्थ नेत्रकमजोर नेत्रप्रतिशत
श्रेणी ओ6 / 9-6 / 186 / 24- 6/3620%
श्रेणी I6 / 18-6 / 366 / 60- शून्य40%
श्रेणी II6 / 60-4 / 60 या दृष्टि 10-20 °3 / 60- शून्य75%
श्रेणी III3 / 60-1 / 60 या दृष्टि 10एफ.सी. 1 एफ.टी. से शून्य तक100%
श्रेणी IVएफ.सी. 1 एफ.टी. से शून्य दृष्टि 100एफ.सी. 1 एफ.टी. से शून्य दृष्टि 100100%
एक आंखों वाला व्यक्ति6/6एफ.सी. 1 एफ.टी. से शून्य30%
  • नेत्रहीन अभ्यर्थियों को केंद्रीय या राज्य सरकार द्वारा गठित किसी मेडिकल बोर्ड से नेत्रहीनता संबंधित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा तभी वे नेत्रत्रहीन अभ्यर्थियों के रूप में लाभ प्राप्त कर पाएंगे।
  • मुख्य परीक्षा में गतिरोध संबंधी दिव्यांग एवं मस्तिष्क पक्षाघात से पीड़ित अभ्यर्थियों को प्रत्येक घंटे में बीस मिनट अतिरिक्त समय दिए जाएंगे।
  • माओपिया (निकट दृष्टि दोष) से पीड़ित अभ्यर्थियों को नेत्रहीन अभ्यर्थी का लाभ प्राप्त नहीं होगा।
  • अभ्यर्थियों की योग्यता का आंकलन संघ लोक सेवा आयोग द्वारा किया जाएगा।
  • यदि किसी अभ्यर्थी की लिखावट आसानी से पढ़ी नहीं जा सकेगी तो ऐसी स्थिति में परिक्षार्थियों द्वारा प्राप्त कुल अंकों से कुछ अंकों की कटौती की जाएगी।
  • प्रश्न पत्रों के उत्तर देते समय अभ्यर्थियों को केवल भारतीय अंकों का अंतर्राष्ट्रीय रूप (अर्थात 1, 2, 3, 4, 5, 6 आदि) का उपयोग करना चाहिए।
  • परीक्षार्थी IAS की मुख्य परीक्षा के निबंध संबंधित प्रश्नों के लिए वैज्ञानिक (गैर-प्रोग्रामी) कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैंI
  • अभ्यर्थी को किसी भी अनुचित गतिविधि (परीक्षा कक्ष में किसी वस्तु का आदान-प्रदान या अनुचित साधनों का प्रयोग करना) में शामिल होने से बचना चाहिए।

UPSC IAS परीक्षा 2018 का ओ.एम.आर. शीट

UPSC IAS परीक्षा में परिक्षार्थियों को ओ.एम.आर. शीट प्रदान की जाती है ताकि उपलब्ध वैकल्पिक उत्तर में से वे एक जवाब का चयन कर सकें। अभ्यर्थी ध्यान रखें कि ओ.एम.आर. शीट का मूल्यांकन कम्प्यूटर के माध्यम से किया जाता है। इसलिए यदि कोई परीक्षार्थी ओ.एम.आर. शीट पर अपना जवाब सही ढंग से चिह्नित नहीं करते हैं तो कंप्यूटर द्वारा उसका मूल्यांकन नहीं किया जाता है। परीक्षार्थी को अपना जवाब देने के लिए काले बॉल पेन का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके साथ ही अभ्यर्थियों को  ओ.एम.आर. शीट में सभी विवरण को भी भरना होगा। अभ्यर्थियों की अधिक जानकारी के लिए ओ.एम.आर. शीट से संबंधित सभी विवरणों की सूची नीचे दी गई हैः-

  • परीक्षा केंद्र- परीक्षार्थी को अपने परीक्षा केंद्र की पूरी जानकारी होनी चाहिए। उदाहरण के लिए, यदि परीक्षार्थी का परीक्षा केंद्र दिल्ली है तो परीक्षार्थी को इसे अंग्रेजी या हिंदी भाषा में काले बॉल पेन से लिखना चाहिए।
  • परीक्षा का विषय- ओ.एम.आर. शीट के ऊपर की ओर दाईं तरफ परीक्षार्थी को परीक्षा बुकलेट सीरीज़ के साथ विषय का नाम लिखना होता है जो ए, बी, सी और डी जैसे वर्णों के रूप में होता है।
  • विषय का कोड- समय-तालिका के लिए परीक्षार्थियों को विषय की जानकारी लेकर ओ.एम.आर. शीट में कोड का उल्लेख करना होता है।
  • अनुक्रमांक (रॉल नंबर)- परीक्षार्थियों को ई-प्रवेश प्रमाण पत्र में उल्लिखित अपना अनुक्रमांक (रॉल नंबर) काले बॉल पेन से लिखना होता है।

परीक्षार्थी को ओ.एम.आर. शीट में उपलब्ध सभी विवरणों को चिह्नित करना और विषय कोड तथा रॉल नंबर से संबंधित सर्कल (गोल) को काला करना होता है। परीक्षार्थी को सर्कल को पूरी तरह से ब्लैक करना चाहिए और ओ.एम.आर .शीट पर सही जानकारी दर्ज करनी चाहिए।

परिक्षार्थी ओ.एम.आर. शीट में जवाब कैसे चिह्नित करें?

अभ्यर्थियों को ओ.एम.आर. पत्रों के माध्यम से उत्तर देते समय पूरा जवाब लिखने की जरूरी नहीं पड़ती बल्कि प्रत्येक प्रश्न के लिए परीक्षार्थी के सामने उत्तर के रूप में चार विकल्प प्रदान किए जाते हैं। अभ्यर्थियों को उन चारों विकल्पों में से एक का चयन करते हुए उस उपयुक्त सर्कल को काला करना होता है। इसके लिए आपको काले बॉल पेन का उपयोग करना होता है। परिक्षार्थियों को UPSC IAS परीक्षा का प्रश्न पत्र बुकलेट के रूप में दिया जाता है। परीक्षार्थी इस पुस्तिका से उत्तर की जांच कर ओ.एम.आर. शीट में सही विकल्प को चिह्नित करना होता है।

अभ्यर्थी ध्यान रखें कि आपको ओ.एम.आर. शीट में केवल एक विकल्प को चिह्नित करना है। कई विकल्पों को चिह्नित करने की स्थिति में आपका उत्तर गलत माना जाता है।


Comments

Comments



No Comments To Show

×

Related News & Articles

October 01, 2018IAS-EXAM 2018

IAS 2019 Application Form

October 31, 2017IAS-EXAM 2018

IAS Exam Centers in Delhi

Find here IAS Exam Centers, nearest metro stations ...

August 25, 2017IAS-EXAM 2018

IAS Mains 2018

Read all about IAS Mains Dates, Pattern, Syllabus ...

June 30, 2017IAS-EXAM 2018

UPSC IAS Prelims 2017 Cut off

Candidates who clear the round 1 will be appearing ...